Rajasthan : सचिन की गूगली ‘बेअसर’, अभी अशोक ही सत्ता के पायलट, प्रियंका…

rajasthan, political instability, cm ashok gehlot, navpradesh,

rajasthan political instablility

जयपुर/नई दिल्ली/नवप्रदेश/ए.। राजस्थान (rajasthan) में सियासी उठापटक (political instability) के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (cm ashok gehlot) ने सोमवार को दावा किया कि उनके पास बहुमत मौजूद है। लेकिन इन दोनों दावों में गहलोत (cm ashok gehlot) का पलड़ा ही भारी दिखाई दिया।

सियासी उठापटक (political instability) के बीच दोपहर को राजस्थान (rajasthan) के सीएम आवास में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद मुख्यमंत्री गहलोत के मीडिया सलाहकार ने बताया कि बैठक में कुल 107 विधायक मौजूद रहे। वहीं, अशोक गहलोत ने मीडिया के सामने अपने विधायकों की परेड भी करा दी। हालांकि पायलट ग्रुप का दावा है कि उसके पास 30 विधायकों को समर्थन मौजूद हैं।

बहरहाल सीएम आवास में हुई बैठक में कांग्रेस के साथ साथ उसके सहयोगी दलों के विधायक भी शामिल थे। बैठक में कांग्रेस के साथ साथ बीटीपी के दो, माकपा के एक, आरएलडी के एक विधायक तथा कांग्रेस का समर्थन कर रहे निर्दलीय विधायक भी मौजूद हैं। इसके साथ ही दिल्ली से आए कांग्रेस के महासचिव के सी वेणुगोपाल, पार्टी के प्रदेश प्रभारी अनिवाश पांडे व राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला भी बैठक में रहे।

पायलट गुट का दावा- 30 विधायक साथ हैं

इस बीच खबर यह भी चली कि कांग्रेस के करीब 17 विधायक बैठक से गायब रहे, जिनके सचिन पायलट के साथ होने की बात कही जा रही है। दूसरी तरफ पायलट गुट 30 विधायकों के समर्थन का दावा कर रहा है। इससे पहले राजस्थान विधानसभा में उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य की अशोक गहलोत सरकार को कोई दिक्कत नहीं होगी और भाजपा के किसी भी तरह के मंसूबे राज्य में कामयाब नहीं होंगे।

राजस्थान विस का गणित
कुल सदस्य संख्या – 200
कांग्रेस के सदस्य – 107
भाजपा के सदस्य – 72

सचिन को मनाने आगे आईं प्रियंका

सचिन पायलट ने भले ही राजस्थान में अशोक गहलोत की सरकार के लिए परेशानी खड़ी करने की कोशिश की है, लेकिन पार्टी उन्हें खोने के मूड में नहीं दिख रही है। सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी के खास दोस्त माने जाने वाले सचिन पायलट को मनाने का जिम्मा प्रियंका गांधी वाड्रा को मिला है। इस विवाद को खत्म करने के लिए प्रियंका गांधी खुद उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और सीएम गहलोत से बात कर रही हैं।

सोमवार को खबर यह भी आई कि जयपुर स्थित कांग्रेस के मुख्यालय से सचिन पायलट के प्रदेश अध्यक्ष के पद वाले पोस्टर हटा दिए गए थे। लेकिन प्रियंका गांधी के आदेश पर दोबारा से पोस्टर लगा दिए गए। सूत्रों का कहना है कि प्रियंका गांधी ने सचिन पायलट से फोन पर बात की हैं। साथ ही भरोसा दिलाया है कि उनकी बातों को पार्टी में सुना और समझा जाएगा। प्रियंका ने दोनों नेताओं से कहा है कि वे बातचीत के जरिए विवाद को सुलझाया जाए।

nmdc add

More News

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *