Breaking: पीएम माेदी का बड़ा ऐलान- 21 दिन तक पूरा देश लॉक डाउन, 15 हजार…

corona india, pm mdodi announce 21 day lock down, navpradesh

corona india, pm mdodi announce 21 day lock down

नई दिल्ली/नवप्रदेश। कोरोना (corona india) से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm modi announce 21 day lock down)ने मंगलवार को बड़ा ऐलान किया है। उन्हाेंने मंगलवार रात 12 बजे से देश में तीन हफ्ते का लॉक डाउन घोषित (lock down) कर दिया है। प्रधानमंत्री मोदी (pm modi announce 21 day lock down) ने कहा कि यदि तीन हफ्ते यानी 21 दिन तक नहीं संभले तो आपका परिवार व देश 21 साल पीछे चला जाएगा। इसलिए उन्होंने जनता से आग्रह किया कि वे घर से बाहर बिल्कुल भी न निकलें। उन्होंनें सोशल डिस्टंसिंग का कड़ाई से पालन करने को कहा। ये सोशल डिस्टंसिंग आम जनता के साथ ही प्रधानमंत्री के लिए भी है।

कोरोना (corona india) संक्रमण रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए 21 दिन का समय अहम है। आपको याद रखना है जान है तो जहान है। ये धैर्य व अनुशासन की घड़ी है। हमें अपना संकल्प निभाना है वचन निभाना है।

जो दिन रात कर रहे काम उनके बारे में सोचे

मेरी आपसे हाथ जाेड़कर प्रार्थना है जो अपना कर्तव्य निभाने के लिए खतरे में काम कर रहे हैं। पैरामेडिकल स्टाफ, डॉक्टर, पैथोलॉजिस्ट जो दिन रात काम कर रहे हैं। सफाई कर्मी, वार्ड बॉय, एंबुलेंस ड्राइवर इन सबके के लिए प्रार्थना कीजिए जिनके कारण इस वायरस का नामोनिशान न रहे। आप 24 घंटे काम कर रहे मीडिया के लोगों के बारे में सोचे पुलिस कर्मियों के बारे में भी सोचे जो अपने घर परिवार की चिंता किए बिना दिन रात ड्यूटी कर रहे हैं और गुस्सा भी झेल रहे है।

जीवन बचाने को देनी होगी सर्वोच्च प्राथमिकता

केंद्र व राज्य सरकारें तेजी से काम कर रही है। लोगों को असुविधा न हो इसके लिए नितरंतर कोशिश कर रही है। सभी आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति के लिए उपाय कर रहे हैं। गरीबों के लिए मुश्किल वक्त लाई है। गरीबों को मुसीबत कम हो इसके लिए जुटे हुए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा-साथियों जीवन जीने के लिए जो जरूरी हैं उन प्रयासों के साथ ही जीवन बचाने के लिए जो जरूरी है उसे सर्वोच्च प्राथमिकता देनी ही होगी। चिकित्सा व्यवस्था को सदृढ़ किया जा रहा है।

हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने 15 हजार करोड़

देश के हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने 15 हजार करोड़ का प्रावधान किया है। इसमें आइसोलेशन बेड, वेंटिलेटर, साथ ही मेडिकल व पैरामिडकल स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाएगा। सभी राज्यों को हेल्थ केयर को ही प्राथमिकता देनी चाहिए। प्राइवेट लैब व प्राइवेट अस्पताल भी सरकार के साथ काम करने के लिए सामने आ रहे हैं।

अफवाहों से दूर रहें

कई बार अफवाहे भी जोर पकड़ने लगती है। ऐसी अफवाहों से बचें। आपके द्वारा निर्देशों का पालन करना जरूरी है। बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा न लें। ऐसा करना और खतरनाक होगा। मुझे विश्वास है कि हर भारतीय शासन प्रशासन के निर्देशों का पालन करेगा। हमारे पास यही एक रास्ता है। कानून का पालन करते हुए बंधनों को स्वीकार करें।

Share

News In English

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: