आयकर टीम की गाडिय़ों को करीब 12 घंटे बाद छोड़ा रायपुर पुलिस ने

income tax raid in raipur, it team car locked, raipur police, it team car relieved, navpradesh,

income tax raid in raipur

छापों पर केंद्र व राजय में टकराव के आसार

रायपुर/नवप्रदेश। राजधानी (income tax raid in raipur) में विभिन्न स्थानों पर छापामार कार्रवाई कर रही आयकर विभाग की टीम की गाडिय़ों (it team car locked)  को गुरुवार देर रात बीच सड़क पर खड़ी होना का हवाला देकर रायपुर पुलिस (raipur police) ने अपने कब्जे में ले लिया था। करीब 20 गाडिय़ों के टायर में लॉक लगा दिया गया था।

29 फरवरी की खबर : छत्तीसगढ़ लघु वनोपज संघ में निकली बंपर भर्ती, तनख्वाह 35 हजार तक, स्नातक…

29 फरवरी की खबर : प्रदेश के राजकीय पशु वनभैंसे के शिकार की कोशिश, छह शिकारियों को…

यातायात पुलिस (raipur traffic police) ने करीब 12 घंटे के बाद शुक्रवार को इन गाडिय़ों (it team car locked) को चालानी की कार्रवाई कर छोड़ दिया (it team car relieved) । इससे पहले आयकर विभाग की टीम ने कहा था कि वे चालान भरने के लिए तैयार है, लेकिन उनसे चालान नहीं लिया जा रहा है।

रायपुर पुलिस ने ये दी दलील

वहीं रायपुर यातायात पुलिस (raipur police) का कहना था कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के 1 मार्च को होने जा रहे दौरे के चलते सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम के मद्देनजर चेकिंग जारी थी। वाहन चालकों को दस्तावेज पूछे जाने पर वे दस्तावेज नहीं दिखा सके जिसके कारण गाडिय़ों को लॉक लगाया गया था। हालांकि शुक्रवार को इन गाड़ियों को छोड़ दिया गया (it team car relieved) ।  बहरहाल इस घटनाक्रम से छापों को लेकर केंद्र व राज्य सरकार केे बीच टकराव केे आसार बनते नजर आ रहे हैं।

बता दें कि राजधानी (income tax raid in raipur) में आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार को रायपुर के महापौर एजाज ढेबर, पूर्व सीएस विवेक ढांड, आईएएस अनिल टुटेजा, अनिल की पत्नी मिनाक्षी टुटेजा, शराब कारोबारी पप्पू भाटिया, कारोबारी गुरुचरण सिंह होरा, डॉ. ए फरिश्ता तथा सीए कमलेश जैन के आवास व अन्य ठिकानों पर दबिश दी थी। कुछ जगहों पर शुक्रवार को भी कार्रवाई जारी रही।

सिंहदेव बोले – इसे कौन सा ‘पुर’ कहें

छत्तीसगढ़ में हो रही आयकर विभाग की कार्रवाई को लेकर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि जब राज्य सरकार कार्रवाई करती है तो विपक्ष द्वारा इसे ‘बदलापुर’ कहा जाता है। अब इस कार्रवाई को कौन सा ‘पुर’ कहा जाए । स्वास्थ्य मंत्री ने हालांकि कहा कि केंद्र व राÓय सरकार के बीच कोई टकराव नहीं है। लेकिन कार्रवाई निष्पक्ष होनी चाहिए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: