Chhattisgarh में मीटर रीडिंग का काम 14 अप्रैल तक बंद , उसके बाद…

chhattisgarh, electricity consumer, meter reading and spot billing close, navpradesh,

chhattisgarh, meter reading and spot billing close

रायपुर/नवप्रदेश। छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) में निम्नदाब बिजली उपभोक्ताओं (electricity consumer) की मीटर रीडिंग (meter reading and spot billing close) , स्पाट बिलिंग एवं सभी ऑफलाइन बिजली बिल नकद संग्रहण केंद्रों को 14 अप्रैल तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) में कोरोना नियंत्रण के लिए लागू लॉकडाउन (lockdown) के मद्देनजर विद्युत उपभोक्ताओं (electricity consumer) की असुविधा न हो, यह ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है। इससे पूर्व इसे 7 अप्रैल 2020 तक बंद रखने का निर्णय लिया गया था।

राज्य शासन द्वारा जारी आदेशानुसार 21 दिन के लॉकडाउन (lockdown) पीरियड को देखते हुए निम्नदाब उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग (meter reading and spot billing close), स्पाट बिलिंग एवं नकद संग्रहण केंद्रों पर भुगतान कार्य को अब 14 अप्रैल तक तत्काल प्रभाव से स्थगित कर दिया गया है।

संक्रमण रोकने में मिलेगी मदद

दरअसल उपभोक्ताओं के परिसर की मीटर रीडिंग ,स्पाट बिलिंग , नगदी भुगतान के कार्यों को स्पॉट बिलिंग अथवा मेनुअली नहीं करने से कोरोना वाइरस के संक्रमण को रोका जा सकेगा। निम्न दाब उपभोक्ताओं को 30 अप्रैल तक बिना अधिभार (सर चार्ज) के विभिन्न बिल संग्रहण केंन्द्रों में बिल भुगतान करने की सुविधा प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

उपभोक्ताओं के हितों का रखा जा रहा ध्यान

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के दौरान बिजली बिलिंग, स्पाट मीटर रीडिंग, एवं नकद भुगतान कार्य में रुकावट से निम्नदाब उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इस हेतु पावर कंपनी उपभोक्ताओं के हित में कदम उठा रही है। सभी माहों के विद्युत देयकों में घरेलू उपभोक्ताओं को राज्य शासन की हाफ रेट पर बिजली योजना के तहत 400 यूनिट तक आधे दाम पर बिजली की छूट का पूरा-पूरा लाभ दिया जाएगा।

इसके साथ ही वर्तमान माह (फरवरी-मार्च 2020 बिलिंग चक्र अनुसार) के बिल को डोर लॉक कोड 03 में बनाए जाने हेतु पॉवर कम्पनी के ‘एनर्जी इन्फोटेक सेंटरÓ ( ईआईटीसी) द्वारा सेप सिस्टम को अपडेट करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *