ट्विटर ने सीएम योगी का ‘वायरस’ बयान हटाया, दूसरे नेताओं के ट्वीट भी हटे

नई दिल्ली। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर आपत्तिजनक बयानों के खिलाफ चुनाव आयोग की सख्ती का असर दिखने लगा है। आयोग के निर्देश पर ट्विटर इंडिया ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ‘वायरस  वाले ट्वीट को भारत में दिखने पर रोक लगा दी है। बताया जा रहा है कि ट्विटर इंडिया ने बीजेपी नेता गिरिराज सिंह, एमएलए मनजिंदर सिंह सिरसा, अभिनेत्री कोयना मित्रा के सांप्रदायिक प्रकृति के 34 ट्वीट के खिलाफ ऐक्शन लेते हुए या तो उन्हें अपनी साइट से हटा दिया है या फिर उसे भारत में दिखने पर रोक लगा दी है।


इससे पहले चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के केरल के इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग को ‘वायरस  के समान बताने वाले ट्वीट पर संज्ञान लिया था। योगी ने इस ट्वीट में लिखा था, ‘मुस्लिम लीग एक वायरस है। एक ऐसा वायरस जिससे कोई संक्रमित हो गया तो वो बच नहीं सकता और आज तो मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ही इससे संक्रमित हो चुका है। सोचिये अगर ये जीत गए तो क्या होगा ? ये वायरस पूरे देश मे फैल जाएगा।

योगी का ट्वीट
एक अन्य ट्वीट में योगी आदित्यनाथ ने लिखा, ‘1857 के स्वतंत्रता संग्राम में मंगल पांडे के साथ पूरा देश अंग्रेजों के खिलाफ मिल कर लड़ा था, फिर ये मुस्लिम लीग का वायरस आया और ऐसा फैला कि पूरे देश का ही बंटवारा हो गया। आज फिर वही खतरा मंडरा रहा। हरे झण्डे फिर से लहर रहे। कांग्रेस मुस्लिम लीग वायरस से संक्रमित है, सावधान रहिए।  बता दें कि पूर्व में वायनाड से राहुल गांधी के नामांकन के दौरान बड़ी संख्या में मुस्लिम लीग के नेता भी उनके रोड शो में शामिल हुए थे। इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग की स्थापना मोहम्मद इस्माइल ने 1948 में की थी।


प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस पर ही उठाए सवाल
सीएम योगी के इस ट्वीट के बाद विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया जताई थी। इसकी शिकायत भी चुनाव आयोग से की गई थी। अब इस ट्वीट को ट्विटर ने भारत में दिखने से रोक दिया है। ट्वीट पर क्लिक करने पर मेसेज आ रहा है, ‘योगी आदित्यनाथ के इस ट्वीट को कानूनी मांग पर भारत में दिखने पर रोक लगा दी गई है।  बताया जा रहा है कि योगी के अलावा गिरिराज सिंह, एमएलए मनजिंदर सिंह सिरसा, अभिनेत्री कोयना मित्रा और पूर्व सैन्य अधिकारी सुरेंद्र पूनिया के कुछ ट्वीट को भी हटाया गया है।
इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने शनिवार को चुनाव आयोग के समक्ष योगी आदित्यनाथ के ट्वीट की शिकायत की थी। बताया जा रहा है कि इसके बाद चुनाव आयोग ने ट्विटर को इस ट्वीट को हटाने का निर्देश दिया था। आयोग ने माना कि योगी का ट्वीट आदर्श आचार संहिता का उल्?लंघन है। ट्विटर ने कई खातों को बंद भी किया है। बता दें कि चुनाव आयोग ने योगी के चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटे के लिए रोक लगा दी है। (एजेंसी)

Spread the love

Leave a Comment