इंद्राणी का ईडी को दिया यह बयान बढ़ाएगा चिदंबरम की मुश्किल

p chidambaram, woes indrani, mukharjee,

chidambaram indrani

नई दिल्ली/नवप्रदेश। पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम (p chidambaram) की मुश्किलें (woes) अब इंद्राणी मुखर्जी (indrani mukharjee) के बयान (statemen) से और बढ़ (escalate) सकती हैं। आईएनएक्स मीडिया मामले से जुड़े भ्रष्टाचार व मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच कर रहे अधिकारियों से पूछताछ में इंद्राणी मुखर्जी (indrani mukharjee) ने बताया कि चिदंबरम ने अपने बेटे कार्ति की मदद करने व विदेश में पैसे भेजने के लिए कहा था।

चिदंबरम (p chidambaram) ने आईएनएक्स मीडिया को एफआईपीबी अप्रूवल देने के एवज में ये सब करने को कहा था। मुखर्जी (indrani mukharjee) ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत अपना बयान दर्ज कराया। उसने कहा कि वह और उसका पति पीटर मुखर्जी चिदंबरम से उनके दिल्ली के नॉर्थ ब्लॉक स्थित ऑफिस में मिले थे।

हालांकि चिदंबरम व उनके बेटे ने इन आरोपों का खंडन किया है। इंद्राणी (indrani mukharjee) ने बताया कि चिदंबरम के कार्यालय में पीटर ने उनसे आईएनएक्स मीडिया में एफडीआई लाने के लिए बात शुरू की और आवेदन सौंपा। इस पर विचार करने के बाद चिदंबरम ने उन्हें अपने बेटे के बिजनेस में मदद करने के लिए कहा था।

ईडी के समक्ष दर्ज अपने बयान में इंद्राणी (indrani mukharjee) ने यह भी कहा कि चिदंबरम ने पीटर से एफआईपीबी अप्रूवल देने के लिए जितना संभव हो सके विदेश में राशि भेजने के लिए कहा था। उल्लेखनीय है कि इंद्राणी (indrani mukharjee) व पीटर आईएनएस मीडिया ग्रुप के प्रमोटर हैं। वर्तमान में दोनों अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या के आरोपों का सामना कर रहे हैं।
००००

Share

News In English

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: