ग्रीष्मकालीन विशेष समर क्रेश कोर्स का शुभारंभ

नवमी से दसवीं और ग्यारहवीं से बारहवीं बोर्ड कक्षा में जाने वाले बच्चों के लिए विशेष समर कोर्स का आयोजन
नवप्रदेश संवाददाता
कवर्धा। परीक्षा परिणाम आने के बाद कक्षा नवमीं से दसवीं बोर्ड कक्षा और कक्षा ग्यारहवीं से बारहवीं बोर्ड कक्षा में प्रवेश लेने वाले 200 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए कबीरधाम जिले में तीस दिवसीय विशेष समर क्रेश कोर्स का आयोजन किया जा रहा है। तीस दिवसीय विशेष समर मार्ग दर्शन कोर्स 15 मई से प्रारंभ हो गया है, जिनका आज विधिवत शुभारंभ हुआ। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने आज स्वामी करपात्री जी विद्यालय में इस विशेष समर क्रेश कोर्स का विधिवत शुभारंभ किया और विद्यार्थियों को विशेष टिप्स भी दिए। विशेष समर क्रेश कोर्स के लिए कक्षा नवमी से दसवी कक्षा जाने वाले 159 बच्चों का चयन किया गया है। इन चयनित विद्यार्थियों का प्रतिशत 80 से उपर हैं। इसी तरह 11वीं से कक्षा बारहवीं बोर्ड कक्षा में जाने वाले 42 विद्यार्थियों का चयन किया गया है। इन सभी विद्यार्थियों का प्रतिशत 70 से उपर है। इन विद्यार्थियों को विशेष प्रशिक्षण और मार्गदर्शन देने के लिए अलग-अलग विषयों के लिए 36 विशेषज्ञों की विशेष टीम बनाई गई है। विशेष समर कोर्स का आयोजन कवर्धा के नवीन उच्चतर माध्यिमक विद्यालय में किया जाएगा। समर कोर्स के शुभारंभ अवसर पर सबसे खास बात यह रही कि इस अवसर पर चयनित विद्यार्थियों के अभिभावक भी उपस्थित थे।
पालकों को भरोसा दिलाया गया कि तीस दिवसीय इस विशेष समर क्रेश कोर्स के माध्यम से विद्यार्थियां विशेष रूप से अध्यापन कराया जाएगा। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने आज समर क्रेश कोर्स के लिए चयनित हुए विद्यार्थियां को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए शिक्षा को मानव जीवन के विकास के लिए महत्पूर्ण इकाई बताया है। शिक्षा ग्रहण करने के लिए दो ही चीज की आवश्यकता होती है। पहला किताब और दूसरा प्रकाश। उन्होने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि समग्र अध्ययन के लिए किताब का अध्ययन जरूर करें। उन्होने बताया कि इस विशेष कोर्स के संचालन के लिए 36 अलग-अलग विषय के विशेषज्ञों की टीम बनाई गई है, जिनके माध्यम से विशेष कोर्स कराया जाएगा। उन्होने कहा कि सफलता के लिए मार्गदर्शन जरूरी है, शिक्षकों के बताए मार्ग पर चल कर ही सफलता मिल सकती है। उन्होने कहा कि शिक्षा कभी व्यर्थ नहीं जाती है। इसके लिए उन्होने कई अलग-अलग उदाहरण भी दिए। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि समर क्रेश कोर्स में शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा शैक्षणिक भ्रमण और खेल गतिविधियां भी कराई जा सकती है। उन्होने यह भी बताया कि इस समर कोर्स के अलावा जिले में स्कूली शिक्षा में सुधार और बेहतर परिणाम लाने के लिए साल भर विशेष अभियान भी चलाया जाएगा। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार ने विद्यार्थियें को संबोधित करते हुए कहा कि समर क्रेश कोर्स कबीरधाम जिले के विद्यार्थियों के लिए एक विशेष और सुनहरा अवसर है। इस अवसर को लाभ जरूर लें। दसवीं और बारहवीं बोर्ड कक्षा में प्रवेश से पहले विद्यार्थियों को समर क्रेश कोर्स के माध्यम से तीस दिनों तक विशेष रूप से अध्यापन और मार्ग दर्शन दिया जाएगा कि उन्हे बेहतर परिणाम के लिए कैसे अध्ययन करना है। उन्होने बताया कि आज इस समर कोर्स का विधिवत शुभारंभ हो रहा है। तीस दिवसीय समर क्रेश कोर्स के शुभारंभ अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी के.एल. महिलागें, सहायक आयुक्त अशाष बेनर्जी, सहायक संचालक यूआर चंन्द्राकर, खण्ड शिक्षा अधिकारी ए.के सहारे, महेश भूआर्य, एमएल पटेला, दयाल सिंह, सहायक परियोजना अधिकारी संतोष साहू, प्राचार्य संजय दूबे और अलग-अलग विशेषज्ञों के 36 विषय विशेषज्ञ उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन आदित्य श्रीवास्तव ने किया।

Spread the love

Leave a Comment