गौठान और चारागाह में सामाजिक सहभागिता से पौधा रोपण का अभियान शुरू

  • जनप्रतिनिधियों, महिला स्वहायता समूहों और अधिकारियों ने गौठान और चारागाह में पौधा रोपण किया
  • कबीरधाम जिले के 72 गौठान और चारागाह में 86 हजार पौधें लगाने का लक्ष्य

कवर्धा । छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी गांव योजना suraji gaon yojana  के तहत कबीरधाम Kabirdham जिले के 72 गौठानों और चारागाह स्थलों पर छायादार और मौसमी फलों के पौधा रोपण शुरू किया गया। हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत कलेक्टर अवनीश कुमार शरण, पुलिस अधीक्षक डॉ लाल उम्मेद सिंह, वनमंडलाधिकारी श्री दिलराज प्रभात और जिला पंचायत सीईओ श्री कुंदन कुमार द्वारा जिले के सात गौठनों और चारागाह स्थलों में पहुंच कर पौधा रोपण अभियान की शुरूआत की गई। अभियान के पहले दिन जनप्रतिनिधियों, महिला स्वहायता समूहों और अधिकारियों द्वारा कवर्धा जनपद पंचायत के आदर्श गौठान बिरकोना, मानिकचौरी, धरमपुरा, बोडला जनपद पंचायत के घोंघा, सहसपुर लोहारा जनपद पंचायत के बचेड़ी तालपुर, इरीमकसा और रमपुरा में पौधा रोपण किया। इसके अलावा जिले के सभी 72 गौठानों और चारागाह स्थलों पर पौधा रोपण का कार्यक्रम शुरू किया गया। इस अभियान के तहत सभी गौठान और चारागाह स्थलों पर 86 हजार पौध रोपण करने का लक्ष्य रखा गया है। पहले दिन शनिवार को जिले के 60 गौठान और चारागाह स्थलों पर बड़े पैमाने पर पौधा रोपण किया गया।
कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने पौधा रोपण कार्यक्रम में ग्रामीणों से वार्तालाप शैली में चर्चा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी ग्राम योजना ग्रामीण परिवेश पर अजीविका के संरक्षण एवं संवर्धन पर आधारित महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ की चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के संरक्षण और सवंर्धन की दिशा में कबीरधाम जिले के समुचित विकास और पशुधन के संरक्षण और संवर्धन के तहत 72 गौठान और चारागाह विकसित किए जा रहे है। इन सभी गौठानों में बड़े पैमाने पर छायादार, मौसमी फलो के पौधों का रोपण करने का लक्ष्य बरसात के मौसम में रखा गया है। कलेक्टर श्री शरण ने कहा कि पौधा रोपण का लक्ष्य तभी संभव होगा जब गांव के ग्रामीणजन, महिला, सामाजिक संगठन और सम्मानित जनप्रतिनिधियों की भागीदारी रहेगी। उन्होने प्रसन्नता व्यक्त करते कहा कि आज कवर्धा जनपद पंचायत के आदर्श गौठान बिरकोना, मानिकचौरी, धरमपुरा, बोडला जनपद पंचायत के घोंघा, सहसपुर लोहारा जनपद पंचायत के बचेड़ी तालपुर, इरीमकसा और रमपुरा में पौधा रोपण किया गया है, उन सभी स्थलांं में ग्रामीणजन, महिला, सामाजिक संगठन और सम्मानित जनप्रतिनिधियों की भागीदारी रही। उन्होने कहा कि पौधा रोपण करने ही हमारा लक्ष्य नहीं है, बल्कि उन सभी पौधों को सुरक्षा प्रदान करते हुए पौधों का समुचित विकास भी करना है। पौधा रोपण के बाद सभी पौधों को ट्री गार्ड लगा कर सुरक्षा प्रदान भी किया गया।


जिला पंचायत सीईओ ने ग्रामीणों से आग्रह करते हुए कहा कि पर्यावरण के संतुलन के लिए पौधा रोपण आवश्यक है। अभी गौठान और चारागाह स्थलों पर पौधा रोपण किया जा रहा है। राज्य शासन के मंशानुरूप जिला प्रशासन द्वारा किसानों को उनके खेतों और उनके बाड़ी विकास के लिए वृहद पैमाने पर मुनगा के पौधे भी निःशुल्क प्रदान किए जाएंगे। जिन-जिन किसानों को मुनगा और अन्य पौधों की आवश्यकता है ऐसे किसानों को ग्राम सचिव के माध्यम से पौधा उपलब्ध भी कराएंगे जाएगें। पौधारोपण कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक डॉ लाल उम्मेद सिंह, वनमंडलाधिकारी दिलराज प्रभाकर ने ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों और महिला स्वसहायता समूहों से पौधों को सुरक्षित करने और पौधों के समुचित विकास के लिए आग्रह भी किया। अभियान के पहले दिन जनपद सीईओ पन्ना लाल धुर्वे,  केशव वर्मा,  भगत सहित जनपद पंचायत सदस्य होरीलाल, हेमन नाथ योगी, उर्वशी बघेल, रजकुंवर, कुलेश्वर छेदानी, सरपंचगण सत्यभामा साहू, अनुसुईया चन्द्रवंशी, सुरेश चन्द्रवंशी, दुलेश्वरी मरकाम, परेश्वर कौशिक, जबीरून निशा,समाज सेवक अशोक जैन, अंकित शर्मा और जीवन सुर्वी स्वसहायता समूह जय बजरंग महिला स्वसहायता समूह, जय मां चण्डी और जय मां सरस्वती महिला स्वसहायता समूह के सदस्य और सभी गौठानों में गौ पालक उपस्थित थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: