Shop Clues से आया लेटर, जीत चुके हो 11 लाख, फिर हुआ ये..

  • जालसाजों का ऐसा था प्लान कि कोई भी आ जाए झांसे में

रायपुर/नवप्रदेश। यदि आप शॉप क्लूज (shop clues) या किसी अन्य कंपनी से ऑनलाइन शॉपिंग ( online shopping) करते हैं तो धोखाधड़ी (fraud) से बचने के लिए यह खबर पूरी पढ़ें। इंटरनेट (internet) के इस युग में हैकर्स (hackers) व जालसाजों के लिए डेटा चुराना बड़ी बात नहीं रह गई।

जालसाज किसी भी सरकारी या निजी संस्थान से जुड़े लोगों या उनके क्लाइंट का डेटा चुरा लेते हैं और फिर उन लोगोंं या क्लाइंट को तरह तरह के प्रलोभन देखकर ठग लेते हैं। अब ये ठग लोगों को सिर्फ कॉल ही नहीं कर रहे, बल्कि बाकायदा ऑनलाइन कंपनी विशेष के नाम का आकर्षक लेटर बनाकर पोस्ट से भेजते हैं, ताकि उन पर पूरा भरोसा हो जाए। ताजा मामला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर का है, जिसकी नवप्रदेश द्वारा बारीकी से पड़ताल करने पर पूरा फर्जीवाड़ा उजागर हुआ।

shop clues coupen

खरीदारी के कुछ दिन बाद मिला इनाम जितने का लेटर

दरअसल राजधानी के अनवर नाम के व्यक्ति ने शॉप क्लूज से कुछ खरीदारी की थी। खरीदी के कुछ दिन बाद उन्हें शॉप क्लूज (shop clues) कंपनी का रबर स्टाम्प लगा कोलकाता से भेजा गया एक एनवेलप मिला। इसमें शॉप क्लूज (shop clues) कंपनी के नाम का लेटर मिलता है। जिसमें लिखा होता है कि आप एक लाख रुपए जीत गए हैं। एनवेलप में एक लाख रुपए जीतने का सर्टिफिकेट भी मिला। एनवेलप में एक कूपन भी होता है।

लेटर के मुताबिक कूपन को स्क्रैच करने पर जो राशि निकलेगी वो भी आप जीत चुके हैं। अनवर के कूपन स्क्रैच करने पर उसमें 10 लाख रुपए लिखा निकला। इसके बाद अनवर ने लेटर में दिए गए हेल्पलाइन नंबर 9163826085 पर कॉल किया। ट्रू कॉलर के मुताबिक यह नंबर कोलकाता का था। कॉल रिसीव करने वाले को इस पत्र व कूपन के बारे में जानकारी दी गई तो उसने एकदम से यह नहीं कहा कि आप 11 लाख रुपए जीत चूके हैं।

shop clues letter

उसने कहा कि हम अपने सिस्टम में चेक कर बताते हैं। ताकि अनवर को तत्काल यह न लगे कि उसे ठगा जा रहा है। कॉल रिसीव करने वाले ने अब अनवर से अपना खाता नंबर व बैंक का आईएफएससी कोड हेल्पलाइन नंबर पर ही मैसेज करने को कहा। उसने यह भी कहा कि आपकेे द्वारा दिए जाने वाले खाता नंबर पर 11 लाख रुपए की राशि ट्रांसफर कर दी जाएगी।

पहले नहीं मांगी एडवांस में कोई राशि

यहां खास बात यह भी है कि पत्र में लिखा था राशि पर लिया जाने वाला सरकारी टैक्स व प्रोसेसिंग शुल्क एडवांस में लिया जाएगा। लेकिन कॉल रिसीव करने वाले को इस बारे में बताए जाने पर उसने कहा कि कोई अग्रिम शुल्क नहीं लगेगा।

अनवर का विश्वास पक्का हो गया और उसने अपना खाता नंबर व आईएफएससी कोड उक्त नंबर पर भेज दिया। इसके बाद 9903399583 नंबर से अनवर को दूसरे दिन कॉल आया कि आपके खाते में आधे घंटे में 11 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। ट्रू कॉलर में यह नंबर ऑनलाइन शॉपिंग बैंक का बताया गया।

बाद में बोला- पैसे नहीं हो रहे ट्रांसफर लगेगा चार्ज

आधे घंटे बाद इसी नंबर से कॉल आता है- ‘सर आपके खाते में राशि जमा करने के लिए बैंक पहले प्रोसेसिंग फीस मांग रहा है, जो कि 5500 रुपए है। जो आपको हमारे इमरान नाम के शख्स के एसबीआई के खाता संख्या- 34499156333 में जमा करनी है। आपके द्वारा यह राशि जमा करते ही 5 मिनट में आपके दिए बैंक खाते में 11 लाख रुपए की राशि जमा कर दी जाएगी।’

अनवर ने कहा आप ही दे दीजिए मैं वापस कर दूंगा

इस पर अनवर ने कॉल करने वाले को कहा कि आप ही मेरी तरफ से 5500 रुपए जमा कर दें। इनाम की रकम मिलने पर मैं ये रुपए वापस कर दूंगा। लेकिन कॉल करने वाले ने कहा कि हमारे पास ऐसा कोई सिस्टम नहीं है। जाहिर है कि शॉपक्लूज (shop clues) के नाम से कॉल करने वाले ये लोग अनवर को 5500 रपए का चूना लगा देते।

दूसरा होता तो लग जाता चूना

चूंकि अनवर ऑनलाइन ठगी के ऐसे मामलों से अपने दोस्तों व मीडिया मेंं आ रही खबरों से वाकिफ हो चुका था, उसने पैसे जमा नहीं कराए। उसने अपना वो ही बैंक खाता उन्हें दिया, जिसमें पैसे नहीं थे। लेकिन यदि अनवर की जगह दूसरे किसी व्यक्ति को शॉप क्लूज (shop clues) कंपनी के नाम का एनवेलप व लेटर मिल जाता तो निश्चित तौर पर वह जालसाजों के झांसे में आकर अपने पैसे गंवा बैठता।

Share

Leave a Comment