रिजल्ट को लेकर शहर के चौराहों में सियासी चर्चा

नवप्रदेश संवाददाता
मुंगेली। लोकसभा चुनाव 2019 के रिजल्ट को लेकर शहर से उपनगरीय एवं ग्रामीण अंचल के गली मोहल्लो और चैक चैराहो में सियासी चर्चा शुरू हो गई है। रिजल्ट आने के इंतजार में उत्साही लोग एक एक दिन बडी मुश्किल से काट रहे है। उन्हे रिजल्ट का बडी बेसब्री से इंतजार है। सट्टा बाजार में कांग्रेस भाजपा फेवरेट बनी हुई है। देश का भावी प्रधानमंत्री के पद कौन बैठेगा। वही लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लडने वाले संासद प्रत्याशी में से जीत हार किसकी होगी, इसे लेकर शहर कस्बा गांव में सट्टा लगाने का दौर शुरू हो गया है। भाजपा कांग्रेस एवं महागटबंधन की सरकार पर सट्टा बाजार में सटोरिये दाव लगा रहे है।
जीत हार के दावे में सिर्फ रूपये ही नहीं, बल्कि हॉटल में पार्टी, मुर्गा-दारू, व विषेश पकवानों का भी दांव लग रहा है। महिलाए भी घरों में भाजपा कांग्रेस प्रत्याशी पर परिवार के सदस्यो के साथ दांव लगाने में पीछे नही है। देश स्तर पर लोकसभा चुनाव में इस बार भी भाजपा की सरकार बनने पर ज्यादातर सटोरिये विश्वास के साथ सट्टा लगा रहे है। चुनाव के इस सट्टा बाजार में कुछ ऐसे भी सटोरियें है जो देश में गठबंधन की सरकार पर जोर देते हुए हजारों का दांव एक दुसरे के साथ लगा रहे है। सटोरिये तेा कई गुना दाव लगा रहे है। राजनीतिक पार्टी से जुडे लोग भी देश में अपनी अपनी सरकार बनने की ताल ठोककर बडे पैमाने में लाखो का दांव लगाने से पीछे नही हटे है। दांव में दो व्यक्ति का रूपये तीसरे के पास जमा हो रहा है। जो रिजल्ट आने के बाद जीतने वाले को दिया जायेगा। आईपीएल खत्म होने के बाद अब सारे सटोरियों का ध्यान अब चुनाव परिणाम में लग गया है ।
यहा के सटोरियो की तार दिगर प्रांतो से भी जुडी होने की उम्मीद जताई जा रही है।इसके बाद भी पुलिस ने न तो आईपीएल सटटा खाईवालो को पकड पाई और अब न चुनावी सट्टेबाजो को सलाखो के पीछे पहुचा पा रही है। सहयोग दलो के अलावा भी भाजपा अकेले पूर्ण बहुमत में होने का अनुमान है। विभिन्नताओ एव विविधताओं से परिपूर्ण भारत देश में सरकार चुनने के लिए लोकतांत्रिक व्यवस्था है अब पूर्णतया निश्चित सरकार में कौन बैठेगा यह तो आगामी 23 मई के परिणाम आने के बाद ही स्पष्ट होगा।

Share

Leave a Comment