जिला प्रशासन ने किया चिकित्सकों की भर्ती प्रक्रिया प्रारंभइंटरव्यू के लिए समय और आयु सीमा का बंधन नहीं

  • कलेक्टर अवनीश कुमारशरण ने सोशल मीडिया के माध्यम से किया अपील
  • जिले के अधिकारीगण भी सोशल मीडिया में कर रहे विज्ञापन को पोस्ट
  • डाॅक्टरों की भर्ती होते स्वास्थ्य उपचार के लिए मिलेगी बेहतर सुविधा, मरीजों को नहीं जाना पडेगा बाहर

कवर्धा। कबीरधाम जिले के जिला अस्पताल में डाॅक्टरों की कमी बनी हुई है। जिसके चलते मरीजों को उपचार के लिए दूसरे जगह जाना पडता है। इन समस्याओं को देख जिला प्रशासन ने चिकित्सकों की कमी को दूर करने के लिए भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। इस प्रक्रिया में इंटरव्यू के लिए और आयु सीमा का कोई बंधन नही है। इस विशय में मिली जानकारी के अनुसार तीन पदों में भर्ती के लिए इंटरव्यू का आयोजन का समय बंधन नहीं है। मतलब कोई भी डाॅक्टर कभी भी स्वास्थ्य विभाग के कार्यालय में आकर इंटरव्यू दिला सकते है। इस भर्ती में आयु सीमा का कोई बंधन नहीं है। संबंधित डाॅक्टरों के अनुभव व उनके प्रमाण पत्र के आधार पर नियुक्ति दी जायेगी। इसके साथ ही जिला प्रशासन द्वारा संबंधित डाॅक्टरों को अन्य प्रकार की सुविधायें दी जायेगी। जिला प्रशासन की ओर से तीन विशेषज्ञों कीर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिला अस्पताल में गायनोकोलाॅजिस्ट (स्त्री रोग विषेशज्ञ) आर्थोपेडिक (हड्डी रोग) एमडी मेडिसीन, आप्थमाॅलाजिस्ट (नेत्र विषेशज्ञ) नहीं है। जिसके चलते जिलेभर से आने वाले मरीजों को चिकित्सा का लाभ नहीं मिल पाता। यहीं कारण है कि इन विशेषज कीर्ती की जा रही है जिससे जिले के मरीजों को इसका लाभ मिल सके। जिला अस्पताल में एमबीबीएस डाॅक्टरों की कमी बनी हुई है। सबसे ज्यादा परेशनी  ड्डी रोग विशेषज्ञों को लेकर है। वहीं जिले में बनी चिकित्सकों की कमी को दूर करने अधिकारी भी अपने-अपने सोशल मीडिया में विज्ञापन पोस्ट कर रहे है ताकि राज्य व अन्य राज्यों के डाॅक्टर इंटरव्यू में शामिल हो।
डेढ लाख से अधिक वेतन
प्राप्त जानकारी के अनुसार तीन विषेशज्ञों की भर्ती जिला अस्पताल में की जानी है। चिकित्सकों को 1.50 लाख से लेकर 2.50 रूपये तक का मासिक वेतन दिया जायेगा। जिसका भुगतान खनिजन्यास मद से किया जायेगा। तीनों पद पर भर्ती के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी कर ली है। बहुत जल्द आम लोगों को जिला अस्पताल में नेत्र, स्त्री व हड्डी रोग विषेशज्ञों की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। इन तीनों पदों मे नियुक्ति संविदा के आधार पर किया जाना है। जिसकी अवधि 1 वर्श के लिए होगा। खास बात यह है कि जब तक प्रषासन की ओर से नियमित भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती तब तक ये कार्यरत रहेंगे। जिले में इन डाॅक्टरों की कमी पूरी होने से इसका लाभ जिले के मरीजों को मिल सकेगा।
इन विषेशज्ञों की कमी
नए सेटअप के अनुसार जिला अस्पताल में 32 विषेशज्ञ के पद है। इसमें केवल तीन विशेषज्ञ मौजूद है। मेडिकल विशेषज्ञों, सर्जिकल विषेशज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, निःशचेतना, नेत्र, रेडियोलाॅजिस्ट, पैथोलाॅजिस्ट, नाक कान गला विषेशज्ञ, मनोरोग विषेशज्ञ की कमी है। अस्पताल में 38 चिकित्सक के पद है। 32 चिकित्सा अधिकारी, 5 डायटिशियन और एक दंत रोग चिकित्सक के पद है। इसमें केवल आठ चिकित्सक ही पदस्थ है। जिला अस्पताल के अनुरूप 30 चिकित्सक की अभी कमी बनी हुई है। इस तरह से कमियों के बीच जैसे-तैसे 100 बिस्तर कहां जाने वाला जिला अस्पताल संचालित हो रहा है।
वर्तमान स्थितिः-
पदनाम स्वीकृति कार्यरत रिक्त
सहअधीक्षक 1 0 1
मेडिकल विषेशज्ञ 5 0 5
सर्जिकल विषेशज्ञ 5 1 4
स्त्री रोग विषेशज्ञ 1 0 1
निःसंतान विषेशज्ञ 5 0 5
नेत्र रोग विषेशज्ञ 1 0 1
रेडियोलाॅजिस्ट 1 0 1
पैथालाॅजिस्ट 5 1 4
नाक, कान, गला विषेशज्ञ 1 0 1
षिषु रोग विषेशज्ञ 5 1 4
अस्थि रोग विषेशज्ञ 1 0 1
मनोरोग विषेशज्ञ 1 0 1
डायटिषियन 5 0 5
चिकित्साधिकारी 32 7 25
दंत रोग चिकित्सक 1 1 0
कुल 70 11 59

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: