Bhilai triple murder : पत्नी के साथ निर्दोष को भी मार डाला आरोपी पति ने ताकि…

bhilai triple murder, durg police, accused arrested, navpradesh,

bhilai triple murder

भिलाई नवप्रदेश। भिलाई (bhilai triple murder) की तालपुरी कॉलोनी में हुए ट्रिपल मर्डर की गुत्थी दुर्ग पुलिस (durg police) ने सुलझा ली है। हत्याारा मृतका मंजू का पति रवि शर्मा ही निकला, जिसे दुर्ग पुलिस ने गिरफ्तार (accused arrested) कर लिया है। पुलिस की ओर से बुधवार को यह जानकारी दी गई।

गौरतलब है कि गौरतलब है कि मंगलवार तड़के 5:30 बजे पुलिस (durg police) ने भिलाई (bhilai triple murder) की तालपुरी कॉलोनी स्थित एक घर से तीन शवों को बरामद किया था। इसमें एक शव महिला यानी आरोपी रवि शर्मा की पत्नी मंजू था। जबकि दो शवों में एक पुरुष व एक दो माह की बच्ची का शव शमिल था।

दुर्ग एसएसपी अजय यादव ने बताया कि आरोपी रवि शर्मा वारदात को अंजाम देकर दुर्ग से निकलने वाली हमसफर एक्सप्रेस से ओडिशा के राउरकेला पहुंच गया था, उसे राउरकेला से भिलाई लाया गया।

उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। गौरतलब है कि रवि ने मंजू व घर में मौजूद शख्स के हाथ पैर बांधकर उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था और दोनों के शरीर को बर्तन रखने की जाली को गर्म कर जगह-जगह से जला दिया था। वहीं बच्ची की मौत के पीछे की वजह घर में फैले धुएं के कारण धम घुटना बताया जा रहा है।

खुद को मरा साबित करने के प्लान में निर्दोष को भी मार दिया

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक रवि ने मंगलवार को जिस शख्स को मौत के घाट उतारा उसका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं था। रवि पुलिस को गुमराह करने के लिए उस व्यक्ति को अपने घर ले गया था। यह व्यक्ति मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जा रहा है, जो शराब भट्‌ठी  पर पड़ा रहता था। रवि उसे यह कहकर अपने घर ले गया था कि दोनों उसके घर में जाकर शराब पीएंगे।

लेकिन घर ले जाने पर रवि ने उसकी भी हत्या कर दी। एसएसपी दुर्ग अजय यादव ने बताया कि रवि ने इस शख्स की हत्या इसलिए कि क्योंकि वह दुनिया की नजरों में खुद को मरा साबित करना चाहता था। इसलिए उसने मंजू व शख्स को जलाया भी। वह बताना चाहता था कि किसी ने लूट-पाट के इरादे से उसकी व पत्नी मंजू व बच्ची की हत्या कर तीनों के शवों को जला दिया।

पति- पत्नी के बीच होने लगा था विवाद

प्राप्त जानकारी केे मुताबिक, आरोपी रवि पत्नी से परेशान होकर उससे छुटकारा पाना चाहता था, इसीलिए उसने इस हत्याकांड को अंजाम दिया। दरअसल मंजू रवि की दूसरी पत्नी थी और उसे पता चल गया था कि रवि की पहले शादी हो चुकी है। इसके बाद से दोनों के बीच विवाद होने लगा था और यहीं से उसने पत्नी मंजू की हत्या की साजिश रचनी शुरू कर दी थी।

रवि शर्मा वारदात को अंजाम देने के बाद ओडिशा के राउरकेला पहुंच गया था। परिस्थितिजन्य साक्ष्यों से हमें उसके ट्रेन से ओडिशा की ओर भागने का शक हो गया था। इसलिए आरपीएएफ के साथ ही ओडिशा जीआरपी को अलर्ट कर दिया गया था। उन्हें रवि का हुलिया बताकर उसे पकडऩे के लिए कहा गया था। राउरकेला जीआरपी ने रवि के ट्रेन से उतरते ही उसे पकड़ लिया, जिसके बाद दुर्ग पुलिस उसे भिलाई लेकर आई। पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार (accused arrested) कर लिया गया।
-अजय यादव, एसएसपी दुर्ग

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: