भारत को एक और झटका, फिर घटी आर्थिक मोर्चे पर रेटिंग

financial crisis, India, Once Jerk, Moody's, Investors Service, Negative agreement,

india GDP

मुंबई/नवप्रदेश। लगातार चल रही आर्थिक मंदी (financial crisis) के दौर में भारत (India) को फिर एक बार झटका (Once Jerk) लगा है। मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस (Moody’s Investors Service) ने भारत की आर्थिक रेटिंग को स्थित से हटकर नकारात्मक करार (Negative agreement) दिया है। पहले के मुकाबले आर्थिक वृद्धि बहुत कम रहने का अनुमान लगाया है।

एजेंसी ने भारत की आर्थिक वृद्धि को कमतर आकते हुए भयानक खतरनाक स्थिति से गुजरने वाली बताया है और बीएए2 विदेशी-मुद्रा एवं स्थानी मुद्रा रेटिंग की पुष्टि की है। लगातार गिरती आर्थिक मंदी का और बढ़ते ही जा रही है जिससे कर्ज का बोझ और अधिक बढ़ सकता है। अक्टूबर में मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने 2019-20 में जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया था।

मूडीज ने अपने बयान में यह भी कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में जोखिम पहले से और बढ़ गया है। इसलिए उन्हें आउटलुक को घटाने का फैसला किया है। दुनिया दो अन्य एजेंसी फिच और एसएडंपी ने भारत की जीडीपी ग्रोथे को स्टेबल रखा है।

Share

1 thought on “भारत को एक और झटका, फिर घटी आर्थिक मोर्चे पर रेटिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *