गांव के गांव बंद पड़ी है नलजल योजना और अधिकारी कह रहे है सब ठीक

बैकुंठपुर के लगभग पंचायतों में बंद पड़ी है नलजल योजना पानी के लिये अब भी परेशान
नवप्रदेश संवाददाता
बैकुंठपुर। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग दावा करते नजर आते है कि उनकी योजनाएं ग्रामपंचायतों में सुचारू रूप से चल रही है और उनका लाभ भी ग्रामीणों को मिल रहा है पर जमीनी हकीकत तो इनके दावे के विपरीत नजर आती है। ग्राम पंचायतों में बने नल जल योजना कई सालों से बंद पड़े है पर अधिकारीयों की माने तो सब चालु है।
कोरिया जिले के बैकुन्ठपुर ब्लाक के कई ग्राम पंचायतों में घर-घर पानी पहुंचाने की नलजल योजना के तहत उच्चस्तरीय टंकी का निर्माण कराया गया था। पर आज स्थिति यह है कि जिन-जिन पंचायतों में यह योजना सुरु हुयी थी उन पंचायतों में सालों से यह योजना बंद पड़ी है पर लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कर्मचारी व अधिकारीयों को यह योजना सुरु कराने की फ्रिक नहीं।वहीं पूछने पर अधिकारी टाल मटोल करते नजर आते हैं। विभाग की लापरवाही का नतीजा है कि पूरे गर्मी भर लोग पानी के लिए परेशान नजर आऐ पर अधिकारियों के कान तक जूं तक नहीं रेंगा।
इन पंचायतों में है नल जल योजना पर सालों से पड़े हैं बंद
बैकुंठपुर ब्लाक के अंतर्गत 64 पंचायत आते हैं जिनमें से लगभग पंचातयतों में नल जल योजना की सुविधा मुहैया कराई गई थी जिसमें रनई, तेंदुआ,करजी, कसरा , छिंदिया, डूमरिया, सावांरावां, सोरगा, टेंगनी, कटोरा, बरदिया, तरगंवा, कसरा, महोरा, डकई पारा, अमहर, पूटा, खोंड़ सहित कई पंचायतों में नल जल योजना की सुविधा मुहैया कराई गई है पर इनमें से सभी पंचायतों में यह सुविधा सालों से बंद पड़ी है और विभाग के पास इसे चालू कराने की फुर्सत नहीं है।
पुरानी योजना बंद पड़ी है और नई पाईप लाईन बिछाने का काम शुरु
विभाग द्वारा पूर्व से बंद पड़े नल जल योजना को सुधारने का प्रयास नहीं किया जा रहा है वहीं जिन स्थानों पर यह सुविधा नहीं है वहां 50- 50 लाख रूपए खर्च कर पाईप लाईन विस्तार का कार्य कराया जा रहा है ऐसे में सवाल उठने लगा है कि पुराने नल जल योजना जिनमें लाखों खर्च हो चुका है आखिर उसकी सुध विभाग क्यों नहीं ले रहा है। वहीं नए योजनाओं को सुरु करने में अधिकारी इतना अति उत्साह क्यो दिखा रहे जिस पर सवाल उठना लाजमी है ।
पानी टंकी के बगल में सौर ऊर्जा भी फैल
वही जहा पानी टंकी से ग्रामीणों को पानी सुविधा मिल नही रहा वही पी एच ही विभाग ने एक वर्ष उसी स्थल के निकट ही सौर ऊर्जा संयत्र से ग्रामीणों को पानी की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए स्वीकृति कर संयत्र भी लगा दिया गया किन्तु विभागीय उदासीनता के कारण इस योजना को भी ग्रहण लग गया जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अधिकारी केवल निर्माण कार्य पूरा कराने तक ही रुचि रखते हैं यह कहना भी गलत नही होगा।
इनका कहना है
सभी जगह पानी की सुविधा उपलब्ध कराया जा रहा कुछ स्थानों पर तकनीकी कारणों से योजना बंद है जिसे जल्द ही सुधार कर सुरु कराया जायेगा ।
केके सोनी, इंजीनियर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग बैकुण्ठपुर

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: